हिंदू कैलेंडर के अनुसार, अश्विन महीने के दसवें दिन हर वर्ष इस पर्व को मनाया जाता रहा है।

नवरात्रि के बाद दशमी को दशहरा के रूप में मनाया जाता है।

दशहरा को विजयादशमी या आयुधपूजा के नाम से भी जाना जता है। दशहरा एक बेहद शुभ तिथि होती है। इस दिन सर्वकार्य सर्वसिद्धि वाला विजय मुहूर्त होता है। इसलिए किसी धार्मिक कार्य या नए काम की शुरुआत करने से अत्यधिक लाभ होता है। साथ ही दशहरे पर शस्त्र पूजा भी की जाती है। इसके अलावा कई ऐसे कार्य किए जाते हैं, दशहरे पर मीठे दही के साथ शमी के काष्ठ का अपराजिता मंत्रों से पूजन करके महत्वपूर्ण काल में उस सिद्ध काष्ठ की मौजूदगी से सफलता और उन्नति होती है। घर के सदस्सों पर देवी-देवताओं की कृपा बनी रहती है।

दशहरे पर लंका दहन के बाद आप गुप्त दान भी कर सकते हैं। इस दिन आप एक नई झाड़ू को किसी मंदिर में ऐसी जगह रख दें, जहां आपको कोई देख ना सके। यह गुप्त दान आपकी धन संबंधी सभी परेशानियों को दूर करेगा। दशहरे पर रावण दहन से पहले घर के ईशान कोने में कुमकुम, चंदन और लाल फूल से एक अष्टदल कमल की आकृति बनाएं। इसके बाद देवी जया व विजया को याद करते हुए उनकी पूजा करें। जया और विजया मां दुर्गा की सहायक योगिनी हैं। इनकी पूजा के बाद शमी के पेड़ की पूजा करके वृक्ष के पास की थोड़ी मिट्टी लेकर अपने घर में रख तिजाोर या पूजा स्थल पर रख दें। मान्यता है कि ऐसा करने से घर में हमेशा सुख व समृद्धि बनी रहती है। दशहरे पर शमी के पेड़ की पूजा करने की मान्यता है। इस दिन अगर आप शमी के पेड़ की पूजा करके शाम में उसके नीचे देसी घी का दीपक जला दें तो ऐसा करना आपके लिए शुभ रहेगा। माना जाता है कि इससे कोर्ट-कचहरी के काम में सफलता मिलती है।

दशहरे के दिन आप एक फिटकरी का टुकड़ा लें और उसको सभी घर वाले से छुआ लें। फिर इसको घर की छत पर ले जाएं और आपको जहां फेकना हो उसके उल्टे तरफ खड़े हो जाएं। फिर अपने ईष्टदेव का ध्यान करते हुए फेंक दें। ऐसा करने से घर की नकारात्मक ऊर्जा खत्म हो जाता ही और समृद्धि आती है, ऐसी धार्मिक मान्यता कहती है। नौकरी और बिजनस में सफलता पाने के लिए आप दशहरे के दिन पूजन करने के बाद 10 फल गरीबों में बांट दें और ओम विजयायौ नम: मंत्र का जप करें। इससे आपको मनोकामना पूरी हो जाएगी। धन प्राप्ति के लिए दशहरे के दिन से 43 दिनों तक किसी कुत्ते को हर रोज बेसन के लड्डू खिलाएं। ऐसा करने से धन लाभ के योग बनते हैं और हर प्रकार की धन संबंधी समस्या दूर हो जाएगी।
ज्योतिषों के अनुसार, रावण दहन के बाद बची हुई लकड़ियों को घर में लाकर किसी सुरक्षित स्थान पर रख देना चाहिए। इससे घर में नकारात्मक शक्ति प्रवेश नहीं करती। साथ ही घर पर कोई भी तंत्र-मंत्र काम नहीं करता है। दशहरे के दिन शिखा पर जयंति बांधने से आरोग्य सुख की प्राप्ति होती है। मान्यता है कि जयंति को तिजोरी या अलमारी में रख देने से घर में धन-धान्य की कभी कमी नहीं होती है। दशहरे के दिन धार्मिक यात्रा का बहुत बड़ा महत्व माना जाता है। मान्यता है कि जो लोग विदेश में नौकरी और बिजनस करने के इच्छुक हैं, वह दशहरे के दिन यात्रा करें। इस दिन यात्रा करने से शुभ फल की प्राप्ति होती है।

Similar News

Sign up for the Newsletter

Join our newsletter and get updates in your inbox. We won’t spam you and we respect your privacy.