इसका नाम मशीन लर्निंग है जो मौत को लेकर भविष्यवाणी ही नहीं करती बल्कि यह भी बता सकती है कि आपको हार्ट-अटैक कब आ सकता है

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और आधुनिक उपकरणों से एक अप्लीकेशन तैयार किया है जो एनॉलिसिस करके मौत की तारीख बताता है

शोधकर्ताओं का दावा है कि मशीन द्वारा बताए गए समय में करीब 90 फीसदी तक सच्चाई है. जो इंसान की मौत का दिन और तारीख की भविष्यवाणी कर सकता है द इंटरनेशन कॉन्फ्रेंस ऑन न्यूक्लियर कार्डियोलॉजी एंड कार्डियक सीटी (ICNC) ने मशीन लर्निंग पर अध्ययन किए गए जिसमे मशीन बता सकती है किसी शख्स की मौत की डेट यदि किसी महीने की 10 तारीख को बताती है तो उसका अंतिम दिन नौ या फिर 11 तारीख हो सकता है

हाल ही में 950 मरीजों के ऊपर उनके जीवन से जुड़ी कुछ बातों के ऊपर शोध किया गया. करीब छह सालों तक इस शोघ पर काम किया गया असल में हम ऐसी मशीनों से घिरे हुए हैं और अपने डाटा उन्हें दे रहे हैं. चाहे वो आपके गूगल सर्च हों, चाहे फोन पर फेस रिकग्निशन, या खुद से चलने वाली कार या नेटफ्लिक्स को दी गई जानकारियां हों, ये सभी मशीनें यूजर की जानकारियां रखने के बाद अपने हिसाब  चीजें दिखानी शुरू कर रही हैं  इस शोघ में कुछ बातें सामने आई जिनके बारे में उनकी मृत्यु और उनके आने वाले हार्ट अटैक की डेट पहले ही पता चल गई थी

फिनलैंड के टुर्कू पीईटी सेंटर डॉ. लुइस एडुराल्डो जुअरेज ओर्जोको ने बताया, "हमारे पास बहुत सा डाटा उपलब्ध होता है परन्तु हम उनका उतना इस्तेमाल नहीं पाते.  इसलिए हमने इसी विचार पर काम करते हुए पता लगाया की यह मशीन दूसरी तकनीकों से एक कदम और आगे जाकर डाटा अध्ययन कर सकती है." उन्होंने बताया एक अनुभवी डॉक्टर किसी इलाज के लिए एक तरह का जोखिम उठा कर  आपको कुछ दवाइयां देता है. और उसका यदि कोई लक्षण है तो दवा भी उसी के अनुसार काम करेगी. यह मशीन भी उसी तरह से साफ दिखने वाले डाटा पर काम करती है
एक सामाचार एजेंसी एएनाई  के अनुसार 950 सीने के दर्द से परेशान लोगों से  यह शोध शुरू हुआ था. छह साल के शोध में इसमें से 24 लोगों को हार्ट अटैक आए और 49 लोगों की मौत हो गई थी. शोध में  मौत की तारीख का अंदाजा पहले ही लगाया जा चुका था की ज्यादातर लोगों की मौत हार्ट अटैक से हुई. इस शोध को लोगिटबूस्ट कहा गया. इनमें उनके सेक्स, उम्र, स्मोकिंग, डायबिटीज आदि. जबकि उनकी जिंदगी 85 चीजों पर काम किया जा रहा था. शोध के दौरान उनके 17 ऐसी चीजें थी जिन्होंने इसमें सबसे ज्यादा भविष्यवाणियों का पता चला.

Similar News

Sign up for the Newsletter

Join our newsletter and get updates in your inbox. We won’t spam you and we respect your privacy.