कृषि कानूनों के खिलाफ जारी किसान आंदोलन का नेतृतिव कर रहे भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा है कि छह फरवरी को होने वाला चक्का जाम दिल्ली में नहीं होगा।

टिकैत ने समर्थकों से अपील की है कि जो लोग यहां नहीं हैं वो अपनी-अपनी जगह पर ही शांतिपूर्ण तरीके से प्रोटैस्ट करें।

भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत, जो कि कृषि कानूनों के खिलाफ चल रहे किसान आंदोलन की अगुवाई कर रहे हैं, ने कहा है कि 6 फरवरी को होने वाला चक्का जाम दिल्ली में नहीं होगा। उन्होंने समर्थकों से अपील की कि जो लोग यहां नहीं आ सके, वे कल अपने-अपने स्थानों पर शांतिपूर्वक चक्का जाम करेंगे।

नए कृषि कानूनों को वापस लेने और एमएसपी पर कानूनों को लागू करने की मांग करते हुए, आंदोलनकारी किसान नेताओं ने पहिया को अवरुद्ध करने की घोषणा की है। संयुक्त किसान मोर्चा के नेता बलबीर सिंह राजेवाल ने कहा कि इस बारे में जानकारी देते हुए उन्होंने कहा कि 6 फरवरी को देशभर में आंदोलन होगा। 

इसके साथ ही हम दोपहर 12 बजे से 3 बजे तक सड़कों को भी जाम करेंगे। किसान संगठनों ने विभिन्न स्थानों पर इंटरनेट बंद करने, किसानों की अनदेखी सहित अन्य मुद्दों के विरोध में बजट में इस नाकेबंदी की घोषणा की है। मालूम हो कि सिंघू, गाजीपुर सहित दिल्ली की कई सीमाओं में नवंबर से हजारों किसान आंदोलन कर रहे हैं।
26 जनवरी को आयोजित ट्रैक्टर परेड में, हिंसा के बाद आंदोलन करने वाले किसानों की संख्या में कमी आई थी, लेकिन भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत की भावना के बाद, आंदोलन को एक बार फिर बड़ी संख्या में किसानों का समर्थन मिला।

Similar News

Sign up for the Newsletter

Join our newsletter and get updates in your inbox. We won’t spam you and we respect your privacy.