इसमें नीति निर्माता, स्टार्टअप इंडिया, उद्योग आदि सभी को एक मंच पर मिलकर किया जा सकेगा।

पीएम मोदी ने 'भारत खिलौना मेले' का उद्घाटन करके एक कौशल विकास योजना की।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को पहले 'भारत खिलौना मेला' (द इंडिया टॉय फेयर 2021) का उद्घाटन करेंगे। शिक्षा मंत्रालय, महिला और बाल विकास मंत्रालय, कपड़ा मंत्रालय इसे स्व-विश्वसनीय भारत अभियान में वोकल फॉर लोकल के तहत देश को खिलौना निर्माण का वैश्विक केंद्र बनाने के लिए आयोजित कर रहा है। अब तक इसमें 10 लाख रजिस्ट्रेशन हो चुके हैं।

छात्र इस प्रतियोगिता के माध्यम से खेलने और अध्ययन आदि के लिए खिलौने, डिजाइन और तकनीक तैयार करेंगे। इसमें विजेताओं को 50 लाख रुपये का इनाम भी दिया जाएगा। नई शिक्षा नीति के तहत, छठे मानक के छात्रों को इसमें काम करना होगा, जिसमें कौशल विकास, छोटे श्रमिकों के साथ इंटर्नशिप शामिल हैं। आत्मनिर्भर भारत के तहत, अब भारतीय छात्र अपनी सोच, कौशल और तकनीक के साथ अंतरराष्ट्रीय खिलौना बाजार में भारतीय बाजार को मजबूत करेंगे।

इसमें नीति निर्माता, माता-पिता, स्टार्टअप, छात्र, उद्योग आदि सभी को एक मंच पर मिलकर काम करना होगा। इसमें राज्य और केंद्र सरकार मिलकर काम करेंगे। भारत में 1.5 बिलियन डॉलर का खिलौना बाजार है और इसके 80 प्रतिशत खिलौने विदेशों से आते हैं। ऐसे में, पहली बार स्कूली बच्चों और कॉलेज के छात्रों को खिलौनों के साथ लेकर देश की अर्थव्यवस्था को मजबूत करने का प्रयास किया जा रहा है।
इससे नवाचार को बढ़ावा मिलेगा। प्रतियोगिता नौ थीम पर आधारित होगी। इनमें भारतीय संस्कृति, इतिहास, प्राचीन काल से भारत को जानना, शिक्षा और स्कूली शिक्षा, सामाजिक और मानवीय मूल्य, विभिन्न क्षेत्रों में काम करना या रोजगार, पर्यावरण, विकलांगता, फिटनेस और खेल आदि शामिल हैं। प्रतियोगिता जूनियर, सीनियर और स्टार्टअप स्तरों पर होगी।

Similar News

Sign up for the Newsletter

Join our newsletter and get updates in your inbox. We won’t spam you and we respect your privacy.